प्रतिवेदन क्या है? प्रतिवेदन की विशेषताएँ, तत्व:विद्यालय के वार्षिकोत्सव पर प्रतिवेदन

Prativedan Kya Hai

दसवीं या ग्याहवीं कक्षा की परीक्षा में प्रतिवेदन से सम्बंधित प्रश्न होता है. अक्सर विद्यालय के वार्षिकोत्सव पर प्रतिवेदन लिखने के लिए बोला जाता है. बच्चे अपने विद्यालय के वार्षिकोत्सव या अन्य किसी और विषय पर प्रतिवेदन अच्छे से लिखते हैं. अब आपके मन में सवाल होगा कि प्रतिवेदन का अर्थ क्या होता है? तो … Read more

मकर संक्रांति 14 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है? Makar Sankranti in Hindi

मकर संक्रांति 14 जनवरी को ही क्यों मानते हैं

मकर संक्रांति का त्योहार जनवरी में उस समय मनाया जाता है, जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है। इस दिन से सूर्य उत्तरायण हो जाता है। यह त्योहार किसी-न-किसी रूप में पूरे देश में मनाया जाता है, जैसे कर्नाटक में संक्रांति, तमिलनाडु और केरल में पोंगल, पंजाब में लोहड़ी, गुजरात और राजस्थान में उत्तरायण … Read more

छात्र और अनुशासन पर निबंध (लेख) Importance of Discipline in Student Life ESSAY in Hindi

छात्र और अनुशासन पर निबंध

छात्र जीवन किसी भी व्यक्ति का एक सुनहरा समय होता है, जिसमें अगर वह अच्छे-से पढ़ाई करे और कुछ अच्छी आदतों को बना ले, तो वह अपने जीवन में काफ़ी आगे जा सकता है। आइए जानते हैं छात्र जीवन में अनुशासन का महत्त्व। छात्र और अनुशासन पर निबंध छात्र जीवन में अनुशासन का महत्त्व काफ़ी … Read more

सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन ‘अज्ञेय’ का जीवन परिचय, रचनाएँ, कविताएँ एवं साहित्यिक परिचय

सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन 'अज्ञेय' का जीवन परिचय

सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन ‘अज्ञेय’ प्रयोगवाद एवं नई कविता के एक सशक्त और लोकप्रिय कवि थे। इनकी कविताओं में आपको अनेक आत्मानुभूतियों की झलक मिल जाएगी, जो अन्य कवियों से काफ़ी अलग है। आइए जानते हैं सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन ‘अज्ञेय’ का जीवन परिचय, रचनाएँ एवं साहित्यिक योगदान। सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन ‘अज्ञेय’ का जीवन परिचय सच्चिदानंद हीरानंद … Read more

हाथ कंगन को आरसी क्या मुहावरे का अर्थ (कहावत/लोकोक्ति)

Hath Kangan ko Aarsi Kya Meaning

अक्सर आपने कई लोगों को यह कहते हुए सुना होगा कि हाथ कंगन को आरसी क्या? और कहीं-न-कहीं शायद आप भी इस कहावत या लोकोक्ति का प्रयोग करते होंगे। आइए जानते हैं की हाथ कंगन को आरसी क्या मुहावरे का अर्थ क्या है? हाथ कंगन को आरसी क्या मुहावरे का अर्थ यह लोकोक्ति चाहे जिस … Read more

विद्यापति का साहित्यिक परिचय, काव्य सौंदर्य, श्रृंगार वर्णन एवं जीवनी

विद्यापति का साहित्यिक परिचय

हिंदी साहित्य में गद्य और पद्य दोनों विधाओं का काफ़ी महत्त्व है। कहानी, उपन्यास के अलावा कविताएँ भी समाज के कई समस्याओं और लेखक और कवि के अनुभवों को अभिव्यक्त करते हैं। विद्यापति भी काफ़ी प्रसिद्ध कवि थे, और आज हम विद्यापति का साहित्यिक परिचय, काव्य सौंदर्य, श्रृंगार वर्णन एवं जीवनी के बारे में बात … Read more

अधजल गगरी छलकत जाय का अर्थ: कहावत, लोकोक्ति, मुहावरे का मतलब

Adhjal Gagri Chhalkat Jaay Meaning

मुहावरे और लोकोक्तियाँ के प्रयोग से आपकी भाषा काफ़ी प्रभावशाली बन जाती है। ऐसी कई कहावतें हैं जो आप अपने बड़े-बुजुर्गों से अक्सर सुनते हैं, और उनमें से एक काफ़ी लोकप्रिय है; अधजल गगरी छलकत जाय का अर्थ क्या है? आज हम इसी के बारे में जानने वाले हैं। अधजल गगरी छलकत जाय का अर्थ पानी … Read more

निर्मल वर्मा का जीवन परिचय, साहित्यिक योगदान, और प्रमुख रचनाएँ

Nirmal Verma ka Jivan Parichay

निर्मल वर्मा सामाजिक बदलाव तथा राजनीतिक समस्याओं पर विशेष लेखनी के माध्यम से लोकप्रिय बने। आइए जानते हैं निर्मल वर्मा का साहित्यिक परिचय, भाषा-शैली, रचनाएँ और संक्षेप में उनकी जीवनी। निर्मल वर्मा का जीवन परिचय निर्मल वर्मा का जन्म सन् 1929 ई. में शिमला में हुआ। उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के सेंट स्टीफेंस कॉलेज में इतिहास … Read more

फणीश्वरनाथ रेणु का साहित्यिक परिचय: व्यक्तित्व, कृतित्व, रचनाएँ और जीवनी

Phanishawar Nath Renu Jivani

एक विशिष्ट शैलीकार और विकासशील समाज के प्रतिनिधि के रूप में फणीश्वरनाथ रेणु जी को यथोचित श्रेय मिला है। हिन्दी साहित्य में उनका योगदान काफ़ी महत्वपूर्ण रहा है, और उनकी रचनाएँ भी अलग-अलग रूप में विस्तृत रहे हैं। आइए जानते हैं फणीश्वरनाथ रेणु का साहित्यिक परिचय, व्यक्तित्व, कृतित्व, रचनाएँ और संक्षेप में फणीश्वरनाथ रेणु की … Read more

मेरी प्रिय पुस्तक पर निबंध: मेरे प्रिय उपन्यासकार/लेखक मुंशी प्रेमचंद की ‘गोदान’

Meri Priy Pustak par Nibandh

कौन सर्वश्रेष्ठ पुस्तक है या श्रेष्ठ साहित्यकारों में से कौन सर्वश्रेष्ठ साहित्यकार हैं? यह प्रश्न बिलकुल बेमानी है। हाँ, इन श्रेष्ठ साहित्यकारों में से किनसे आप सर्वाधिक प्रभावित हैं, इस प्रश्न का उत्तर दिया जा सकता है। एक ग्रामीण परिवेश से संबंध रखने के नाते मेरा झुकाव मुंशी प्रेमचंद के प्रति रहा है। प्रेमचंद ने … Read more

error: Content is protected !!