CTET Previous Year Question with Answer in Hindi: CTET Previous Year Question in Hindi

Previous Year Question paper किसी भी परीक्षा की तैयारी के लिए काफी मददगार होता है. लगभग सभी एग्जाम का प्रश्न-पत्र उस एग्जाम के पिछले कई वर्षों के प्रश्न-पत्र यानि previous year question paper की तरह ही प्रश्न पत्र होता है. अगर आप केंद्रीय शिक्षक पत्र परीक्षा (CTET 2021) की तैयारी कर रहे हैं, तो CTET Previous year ka Question एक बार आप अवश्य देखें. तो आज हम आपसे CTET Previous year Question With Answer Hindi के बारे में बात करेंगे.

CTET Previous Year Question with Answer in Hindi 

आज हम सीटेट के पिछले एग्जाम के प्रश्न-पत्र को हल करेंगे. सीटेट दो पेपर में होता है. तो हम CTET Paper I Previous Year Question in Hindi के बारे में बात करेंगे. जिनमें बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र भाग के प्रश्न-हल करेंगे,

CTET Previous Year Question Paper in Hindi 

Paper -I

भाग- I ( बाल विकास व शिक्षाशास्त्र)

1. भाषा के अर्जन एवं विकास के लिए सर्वाधिक संवेदनशील अवधि कौन-सी है?

(a) जन्म पूर्व अवधि

(B) प्रारंभिक बाल्यावस्था 

(C) मध्य बाल्यावस्था

(d)किशोरावस्था

Ans. (B) प्रारंभिक बाल्यावस्था

2. निन्मलिखित में से कौन-सी लॉरेंस कोहलबर्ग द्वारा प्रस्तावित नैतिक विकास की एक अवस्था है?

(a) प्रसुप्ति अवस्था

(b)सामाजिक अनुबंध अभिविन्यास 

(c) मूर्त संक्रियात्मक अवस्था

(d)उद्योग बनाम अधीनता अवस्था

ans. (B) सामाजिक अनुबंध अभिविन्यास

3.  कक्षा में परिचर्चा के दौरान एक शिक्षक प्राय: लड़कियों की तुलना में लड़कों पर अधिक ध्यान देता है| किसका उदहारण है?

(a) जेंडर पक्षपात

(b) जेंडर पहचान

(c) जेंडर सम्बद्धता

(d)जेंडर समरूपता

ans. (A) जेंडर  पक्षपात

4. बच्चों में जेंडर रूढ़िवादिता एवं जेंडर भूमिका अनुरूपता को कम करने के लिए निम्नलिखित में से कौन-सी पद्धति प्रभावशाली है?

(a) जेंडर- पक्षपात के बारे में परिचर्चा 

(b) जेंडर-विशिष्ट भूमिकाओं को महत्त्व देना

(c) जेंडर -पृथक खेल समुह बनाना

(d) जेंडर -पृथक बैठने की व्यवस्था करना

ans. (A) जेंडर- पक्षपात के बारे में परिचर्चा

5. निन्मलिखित में से किस मनोवैज्ञानिक ने बच्चों को ज्ञान के सक्रिय जिज्ञासु के रूप में देखते हुए उनके चिंतन में सामाजिक एवं सांस्कृतिक विषय वस्तुओं के प्रभाव को महत्त्व दिया?

(a)जान.बी. वाटसन

(b)लेव वायगोत्सकी 

(c)जीन पियाजे

(d) लॉरेंस कोहलबर्ग

ans. (B) लेव वायगोत्सकी

6. जिग-सौ पहेली को करते समय 5 वर्ष की नज्मा स्वयं से कहती है ” नीला टुकड़ा कहाँ है? नहीं,  यह वाला नहीं है, गाढे रंग वाला जिससे यह जूता पूरा बन जायेगा”| इस प्रकार की वार्ता को लेव वायगोत्सकी किस प्रकार संबोधित करते हैं?

(a)व्यक्तिगत वार्ता 

(b)जोर से बोलना

(c)पाड (ढांचा)

(d)आत्मकेंद्रित वार्ता

ans. (A) व्यक्तिगत वार्ता

7. बच्चों को संकेत देना तथा आवश्यकता पड़ने पर सहयोग प्रदान करना, निम्नलिखित में से किसका उदहारण है?

(a)प्रबलन

(b)अनुबंधन

(c)माडलिंग

(d)पाड (ढांचा)

ans. (D) पाड (ढांचा)

8. निन्मलिखित व्यवहारों में से कौन-सा जीन पियाजे द्वारा प्रस्तावित मूर्त संक्रियात्मक अवस्था को विशेषित करता है?

(a)परिकल्पित-निगमनात्मक तर्क, साध्यात्मक

(b)संरक्षण, कक्षा समावेशन 

(c)अस्थगित अनुकरण, पदार्थ स्थायित्व

(d)प्रतीकात्मक खेल, विचारों की अनुत्क्रमनियता

ans. (B) संरक्षण, कक्षा समावेशन

9. बच्चों के संज्ञानात्मक विकास के सन्दर्भ में निन्मलिखित में से कौन-सी पियाजे की संरचना है?

(a)स्कीमा 

(b)अवलोकन अधिगम

(c)अनुबंधन

(d)प्रबलन

ans. (A) स्कीमा

CTET Previous Year Question with Answer in Hindi 

10.  आकलन का प्राथमिक उद्देश्य क्या होना चाहिए?

(a)विद्यार्थियों के लिए श्रेणी निश्चित करना

(b)सम्बंधित अवधारणाओं के बारे में बच्चों की स्पष्टता तथा भ्रांतियों को समझना

(c)विद्यार्थियों के प्राप्तांकों के आधार पर उनको नामांकित करना

(d)रिपोर्ट कार्ड में उत्तीर्ण और अनुत्तीर्ण अंकित करना

ans. (B) सम्बंधित अवधारणाओं के बारे में बच्चों की स्पष्टता तथा भ्रांतियों को समझना

11. निन्मलिखित कथनों में से कौन-सा बुद्धि के बारे में सही है?

(a)बुद्धि एक निश्चित योग्यता है जो जन्म के समय ही निर्धारित होती है|

(b) बुद्धि को मानकीकृत परीक्षणों के प्रयोग से सटीक रूप से मापा एवं निर्धारित किया जा सकता है|

(c) बुद्धि एक एकात्मक कारक तथा एक एकाकी विशेषक है|

(d) बुद्धि बहुआयामी है तथा जटिल योग्यताओं का एक समूह है|

ans. (d) बुद्धि बहुआयामी है तथा जटिल योग्यताओं का एक समूह है|

12. रूही हमेशा समस्या के एकाधिक समाधानों के बारे में सोचती है|इनमें से काफी समाधान मौलिक होते हैं|रूही किन गुणों का प्रदर्शन कर रही है|

(a) सृजनात्मक विचारक 

(b) अभिसारिक विचारक

(c) अनम्य विचारक

(d) आत्मकेंद्रित विचारक

ans. (A) सृजनात्मक विचारक

13. शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया में, वंचित समूह से सम्बंधित विद्यार्थियों के द्वारा सहभागिता कम होने की स्थिति में एक शिक्षक को क्या करना चाहिए?

(a) बच्चों को विद्यालय छोड़ने के लिए कहना चाहिए|

(b) इस स्थिति को जैसी है, स्वीकार कर लेना चाहिए|

(c) इन विद्यार्थियों से अपनी अपेक्षाओं को कम करनी चाहिए|

(d) अपनी शिक्षण पद्धति पर विचार करना चाहिए तथा बच्चों की सहभागिता में सुधार करने के लिए नए तरीके ढूंढने चाहिए|

ans. (D) अपनी शिक्षण पद्धति पर विचार करना चाहिए तथा बच्चों की सहभागिता में सुधार करने के लिए नए तरीके ढूंढने चाहिए|

14. एक समावेशी कक्षा में, एक शिक्षक को विशिष्ट शैक्षिक योजनाओं को

(a) तैयार नहीं करना चाहिए |

(b) कभी-कभी तैयार करना चाहिए|

(c) सक्रिय रुप से तैयार करना चाहिए|

(d) तैयार करने के लिए हतोत्साहित होना चाहिए|

ans. सक्रिय रुप से तैयार करना चाहिए|

15. ‘पठनवैफल्य’ बच्चों के प्राथमिक लक्षण क्या है?

(a) न्यून-अवधान विकार

(b) अपसारी चिंतन; पढ़ने में धाराप्रवाहिता

(c) धाराप्रवाह पढने की अक्षमता 

(d) एक ही गतिविषयक कार्य को बार-बार दोहराना

ans. धाराप्रवाह पढने की अक्षमता

16. शिक्षा का अधिकार अधिनियम, 2009  में उल्लेख की गयी ‘समावेशी शिक्षा’ की अवधारण निन्मलिखित में किस पर आधारित है?

(a) व्यवहारवादी सिद्धांत

(b) अशक्त बच्चों के प्रति एक सहानुभूतिक अभिवृति

(c) अधिकार-आधारित मानवतावादी परिप्रेक्ष्य

(d) मुख्यत: व्यावसायिक शिक्षा उपलब्ध करा करके अशक्त बच्चों को मुख्यधारा में शामिल करना

ans. (c)

17.   संरचनावादी ढाँचे में, अधिगम प्राथमिक रूप से

(a) यंत्रवत याद करने पर आधारित है|

(b) प्रबलन पर केन्द्रित है|

(c) अनुबंधन द्वारा अर्जित है|

(d) अवबोधन की प्रक्रिया पर केन्द्रित है|

ans. (d) अवबोधन की प्रक्रिया पर केन्द्रित है|

18. अनेक घटनाओं के बारे में बच्चों के द्वारा बनाये गए ‘सहजानुभुत सिद्धांतों’ के सन्दर्भ में एक शिक्षिका को क्या करना चाहिए?

(a) बच्चों के इन सिद्धांतों को अनदेखा करना चाहिए|

(b) बच्चों को दण्डित करना चाहिए|

(c) बार-बार याद करने के द्वारा एक सही सिद्धांत से ‘बदल’ देना चाहिए|

(d) प्रतिकूल प्रमाण एवं उदाहरणों को प्रस्तुत करके बच्चों के इन सिद्धांतों को चुनौती देनी चाहिए|

ans. (d) प्रतिकूल प्रमाण एवं उदाहरणों को प्रस्तुत करके बच्चों के इन सिद्धांतों को चुनौती देनी चाहिए|

19. छात्र-केन्द्रित शिक्षाशास्त्र की क्या विशेषता है?

(a) केवल पाठ्यपुस्तकों पर निर्भर होना

(b) बच्चों के अनुभवों को प्रमुखता देना 

(c) यंत्रवत याद करना

(d) योग्यता के आधार पर विद्यार्थियों को नामांकित करना तथा वर्गीकरण करना

ans. (b) बच्चों के अनुभवों को प्रमुखता देना

20.   संवेग एवं संज्ञान एक-दुसरे से _ हैं|

(a) पूर्णतया अलग

(b) स्वतंत्र

(c) सन्निहित 

(d) सम्बंधित नहीं

ans. (c) सन्निहित

CTET Previous Year CDP Question in Hindi

21. संरचनावादी सिद्धांतों के अनुसार अधिगम के बारे में निन्मलिखित कथनों में से कौन-सा सही है?

(a) अधिगम पुनरूत्पादन एवं स्मरण की प्रक्रिया है|

(b) अधिगम यंत्रवत याद करने की प्रक्रिया है|

(c) अधिगम आवृत्तीय सम्बन्ध के द्वारा व्यवहारों का अनुबंधन है|

(d) अधिगम सक्रिय विनियोजन के द्वारा ज्ञान की संरचना की प्रक्रिया है|

ans.(D) अधिगम सक्रिय विनियोजन के द्वारा ज्ञान की संरचना की प्रक्रिया है|

22. विद्यार्थियों को स्पष्ट उदहारण एवं गैर-उदहारण देने के क्या परिणाम है?

(a) अवधारणात्मक परिवर्तनों को प्रोत्साहित करने के लिए यह एक प्रभावशाली तरीका है|

(b) यह विद्यार्थियों के दिमाग में भ्रांतियां उत्पन्न करता है|

(c) यह अवधारणाओं की समझ में अभाव पैदा करता है|

(d) यह अवधारणात्मक समझ की बजाय/ कार्यविधिक प्रक्रियात्मक ज्ञान पर ध्यान केन्द्रित करता है|

ans. (A) अवधारणात्मक परिवर्तनों को प्रोत्साहित करने के लिए यह एक प्रभावशाली तरीका है|

23.  बच्चों को अधिगम गतिविधियों में भागीदारी करने के लिए लगातार पुरस्कार देना व दंड का प्रयोग करने से क्या प्रभाव पड़ता है?

(a) बाहरी अभिप्रेरण कम होती है|

(b) आतंरिक अभिप्रेरण बढती है|

(c) यह बच्चों को प्रदर्शन आधारित लक्ष्यों के बजाय निपुणता पर ध्यान देने के लिए प्रोत्साहित करेगा.

(d) अधिगम में बच्चों की स्वाभाविक अभिरुचि तथा जिज्ञासा कम होती है|

ans. अधिगम में बच्चों की स्वाभाविक अभिरुचि तथा जिज्ञासा कम होती है|

24. निन्मलिखित में से कौन-सी प्रथाएँ सार्थक अधिगम को बढ़ावा देती है?

(a) शारीरिक दंड

(b) सहयोगात्मक अधिगम पर्यावरण 

(c) सतत एवं समग्र मूल्यांकन 

(d) निरंतर तुलनात्मक मूल्यांकन

ans. (B) और (c)

25.  शिक्षक बच्चों की जटिल अवधारणाओं की समझ को किस प्रकार सहज कर सकते हैं?

(a) एक व्याख्यान देकर के

(b) प्रतियोगितात्मक अवसरों की व्यवस्था करके

(c) बार-बार यांत्रिक अभ्यास के द्वारा

(d) अन्वेषण एवं परिचर्चा के लिए अवसर उपलब्ध करके 

ans. अन्वेषण एवं परिचर्चा के लिए अवसर उपलब्ध करके

26. एक प्राथमिक विद्यालय की अध्यापिका बच्चों को एक प्रभावशाली समस्या-समाधानकर्ता बनने के लिए किस प्रकार से प्रोत्साहित कर सकती है?

(a) प्रत्येक छोटे कार्य के लिए भौतिक पुरस्कार देकर

(b) केवल प्रक्रियात्मक ज्ञान पर बल/ महत्त्व देकर

(c) ‘गलत उत्तरों’ को अस्वीकार करके एवं दण्डित करके

(d) बच्चों को सह्जानुभुत अनुमान लगाने के लिए प्रोत्साहित करके तथा उसी पर आधारित विचार मंथन करके 

ans. (D) बच्चों को सह्जानुभुत अनुमान लगाने के लिए प्रोत्साहित करके तथा उसी पर आधारित विचार मंथन करके

27.  निन्मलिखित अवधि में से किसमें शारीरिक वृद्धि एवं विकास तीव्र गति से घटित होता है?

(a) शैशवावास्था एवं प्रारंभिक बाल्यावस्था 

(b) प्रारंभिक बाल्यावस्था एवं मध्य बाल्यावस्था

(c) मध्य बाल्यावस्था एवं किशोरावस्था

(d) किशोरावस्था  एवं वयस्कता

ans. (A) शैशवावास्था एवं प्रारंभिक बाल्यावस्था

28. निम्नलिखित में से कौन सा विकास का सिद्धांत नहीं है?

(a) विकास जीवनपर्यंत होता है|

(b) विकास परिवर्त्य होता है|

(c) विकास आनुवंशिकता एवं पर्यावरण दोनों के द्वारा प्रभावित होता है|

(d) विकास सार्वभौमिक है तथा सांस्कृतिक सन्दर्भ इसे प्रभावित नहीं करते है|

ans. (D) विकास सार्वभौमिक है तथा सांस्कृतिक सन्दर्भ इसे प्रभावित नहीं करते है|

29. वैयक्तिक विभिन्नताओं का प्राथमिक कारण क्या है?

(a) लोगों के द्वारा माता-पिता से प्राप्त आनुवंशिक संकेत पद्धति (कोड)

(b) जन्मजात विशेषताएँ

(c) पर्यावरणीय प्रभाव

(d) आनुवंशिकता एवं पर्यावरण के बीच जटिल पारस्परिक क्रिया 

ans. आनुवंशिकता एवं पर्यावरण के बीच जटिल पारस्परिक क्रिया

30.  निन्मलिखित में से कौन-सा द्वितीयक समाजीकरण एजेंसी का उदहारण है?

(a) परिवार एवं पास-पड़ोस

(b) परिवार एवं मीडिया

(c) विद्यालय एवं मीडिया 

(d) मीडिया एवं पास-पड़ोस

ans. विद्यालय एवं मीडिया

इसे भी पढ़ें: RTE Act 2009 in Hindi: आरटीई एक्ट 2009 क्या है?

Leave a Comment

error: Content is protected !!