पर्यावरण दिवस कब मनाया जाता है? World Environment Day Theme 2022 Essay in Hindi

क्या आपको पता है कि Paryavaran Diwas Kyo Manaya Jata Hai? पर्यावरण संरक्षण के लिए हर साल विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है. मनुष्य और पर्यावरण एक-दुसरे से आपस में जुड़े हुए है. किसी एक के अभाव में दुसरे की कल्पना भी नहीं की जा सकती है.इसलिए हम सभी को पर्यावरण का संरक्षण करना चाहिए. जिससे हमारा पर्यावरण स्वच्छ और सुरक्षित रहेगा.

पर्यावरण में ही हम रहते है, इसके बिना मानव जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है. मानव जीवन के अस्तित्व को बनाये रखने के लिए पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है.

पर्यावरण दिवस कब मनाया जाता है?

हर साल 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के रूप में मनाते हैं. इस दिन सभी सरकारी एवं गैर-सरकारी संस्थानों में पर्यावरण दिवस मनाया जाता है. सभी लोग पर्यावरण संरक्षण का शपथ लेते है, कि पर्यावरण को सुरक्षित रखेंगे. इसके बचाव के लिए हम सभी पेड़-पौधे लगायेंगे.

हर साल विश्व के सभी देशों में पर्यावरण के संरक्षण और सुरक्षा के लिए विश्व पर्यावरण दिवस को मनाया जाता है. इस दिन सभी लोग पर्यावरण के के रखरखाव के लिए पेड़- पौधे लगाने का संकल्प लेते है.

पर्यावरण किसे कहते हैं?

पर्यावरण दो शब्दों से मिलकर बना है परि + आवरण. ‘परि’ यानि चारों तरफ और ‘आवरण’ का मतलब घेरा हुआ. हमारे चारों और का वातावरण ही पर्यावरण कहलाता है.

  • पर्यावरण में मनुष्य, पेड़-पौधे, पशु-पक्षी, आदि आते है.इन सभी जीवों का अस्तित्व पर्यावरण के बिना संभव नहीं है, इसलिए हमें इनकी सुरक्षा करनी चाहिए.
  • पर्यावरण के बचाव के लिए हम सभी को जागरूक होना होगा, तभी ये सुरक्षित रहेगा.
  • इसके संरक्षण के लिए हर साल विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है, जिसमें लोगों को पेड़-पौधे लगाने के लिए जागरुक किया जाता है.
  • जैसे पर्यावरण बचाव के नारे लगाना, पौधा रोपण, अपने आस-पास के क्षेत्र की साफ- सफाई करना और करवाना.
  • आज के दौर में दिन-ब-दिन पर्यावरण प्रदूषित होता जा रहा है. अत: इसके संरक्षण करने के लिए पर्यावरण दिवस मनाया जाता है।

विश्व पर्यावरण दिवस की शुरुआत कैसे हुई?

5 जून 1972 को पर्यावरण दिवस मनाने की घोषणा संयुक्त राष्ट्र संघ ने पर्यावरण के प्रति वैशिवक स्तर पर राजनीतिक और सामाजिक जागृति लाने हेतु किया था. संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा आयोजित विश्व पर्यावरण सम्मलेन में 5 जून से 16 जून तक चर्चा हुई. इसके 2 वर्ष के बाद 5 जून 1974 को पहली बार विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया.

इसकी शुरुआत पहली बार स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम में हुई. जिसमें एक ही पृथ्वी है, का सिद्धांत दिया गया था.इस आयोजन में 119 देशों ने हिस्सा लिया.

पर्यावरण सुरक्षा और संरक्षण के प्रति लोगों को जागरुक करने लिए इस दिवस की शुरुआत की गयी थी. पर्यावरण प्रदुषण, और ग्लोबल वार्मिंग की समस्या का निदान करने के उद्देश्य से पर्यावरण दिवस मनाने प्रस्तावना रखी गयी.

पर्यावरण दिवस कयों मनाया जाता है?

पर्यावरण के सुरक्षा और संरक्षण के लिए प्रति वर्ष 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मानते है. प्राकृतिक संसाधनों का अंधाधुंध विनाश, अधिक संख्या में जंगलों की कटाई, पर्यावरण प्रदुषण और Global Warming से बचाव तथा भविष्य में आने वाले खतरों को रोकने के लिए पर्यावरण दिवस मनाया जाता है.

World Environment Day Program में लोगों को इकठ्ठा करके उन्हें प्रदुषण की समस्या के बारे में जानकारी दी जाती है. अधिक से अधिक संख्या में पेड़-पौधे लगाने के लिए प्रेरित किया जाता है. साथ ही पौधा-रोपण का आयोजन भी किया जाता है. प्राकृतिक संसाधनों के विनाश की ओर ध्यान आकर्षित करवाते हैं, जिससे सभी व्यक्ति संसाधनों का बचाव का सकेंगे.

पर्यावरण की सुरक्षा के प्रति लोगों को जागरुक करने के लिए यह दिवस मनाया जाता है. Environment Day के आयोजन के लिए हर साल एक नई थीम चुना जाता है. यानि की हर साल कुछ नई थीम के साथ राष्ट्रीय पर्यावरण दिवस मनाया जाता है.इस साल भी नई थीम के साथ Paryavaran Diwas मनाया जायेगा.

Paryavaran Diwas Ka Theme 2022

पर्यावरण दिवस कब और क्यों मनाते हैं? ये जानने के बाद आप सोच रहे होंगे की इस साल किस थीम पर पर्यावरण दिवस मनाया जायेगा. 5 जून 2022 पर्यावरण दिवस का थीम ‘Only One Earth’ है. आधुनिक समय में प्रदूषण की समस्या इतनी तेजी से बढ़ रही है, जिसका हमें अनुभव भी नहीं होगा. अगर ऐसे ही पर्यावरण प्रदूषण की समस्या बढ़ते रहेगा तो, आने वाले कुछ वर्षों में हमलोगों को साँस लेना मुश्किल हो जायेगा.

इसलिए हम सभी को पर्यावरण की सुरक्षा करना अनिवार्य है. ऐसा नहीं की केवल पर्यावरण दिवस के दिन ही हम इसकी सुरक्षा करेंगे. बल्कि हमें हमेशा इनकी सुरक्षा करना चाहिए.

Leave a Comment

error: Content is protected !!