Dual Degree Meaning in Hindi: एक साथ दो डिग्री कैसे लें?

प्रतियोगिता के इस दौर में आपकी डिग्री के साथ ही आपके skills भी आपको भीड़ से अलग बनाती है, जो आपको जॉब लेने में मदद कर सकती है। ऐसे कई सारे लोग हैं, जिनके पास समय की कमी रहती है फिर भी वे डिग्री लेना चाहते हैं? कैसा रहेगा, अगर आप एक साथ दो डिग्री ले लें? तो क्या आप एक साथ दो डिग्री ले सकते हैं? आइए जानते हैं Dual Degree Meaning in Hindi यानी एक साथ दो डिग्री कैसे लें?

Dual Degree Meaning in Hindi

Dual Degree एक ऐसी शैक्षणिक व्यवस्था है, जिसमें आप एक ही समय में दो डिग्री ले सकते हैं। लेकिन आपको ध्यान देना है कि एक कोर्स regular mode से हो, और दूसरा distance education के ज़रिए। मज़े की बात यह है कि आप दोनों कोर्सेज़ एक ही संस्थान या दूसरे संस्थान से भी कर सकते हैं।

आज के समय में IGNOU और NIOS जैसी कई open universities हैं, जिनके माध्यम से आप घर पर रहकर, कहीं नौकरी करते हुए किसी भी कोर्स की पढ़ाई कर सकते हैं। इसी को कहते हैं distance learning program या distance education. इसमें आपको रेगुलर क्लास करने की जरुरत नहीं होती है, बस परीक्षा के समय आपको जाना होता है।

एक साथ दो डिग्री करने के फ़ायदे

एक साथ दो कोर्स करने से जहाँ समय की बचत होती है, वहीं छात्रों के स्किल्स में इजाफा होता है। यदि कोई छात्र एक कोर्स करने के बाद किसी दुसरे कोर्स में प्रवेश लेता है, तो समय अधिक लगता ही है। उम्र निकल जाने के बाद वह कई तरह की नौकरियों में आवेदन करने के योग्य नहीं रह जाता है। 

ऐसे में शैक्षणिक योग्यता बढ़ने के साथ-साथ कार्यकुशलता में इजाफा करने के लिए Dual Degree या डिप्लोमा काफी फायदेमंद साबित होते हैं। मान लें कि कोई छात्र विज्ञान विषय में बैचलर डिग्री (B.Sc.) कर रहा है, लेकिन उसे रचनात्मक लेखन में रूचि है तो वह Distance Mode यानि दूरस्थ शिक्षा के जरिये रचनात्मक लेखन में IGNOU या किसी और संस्थान से डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स कर सकता है। 

डुअल डिग्री कैसे लें?

एक ओर जहाँ रेगुलर मोड के तमाम कोर्सेज में पढाई, असाइनमेंट और परीक्षा को लेकर छात्रों को तनाव का सामना करना पड़ता है, वहीं डिस्टेंस एजुकेशन या फिर पार्ट टाइम कोर्सेज में उस तरह के तनाव का सामना नहीं करना पड़ता है। 

इन कोर्सेज में काफी लचीलापन होता है, जिससे छात्रों के पास पढाई को लेकर काफी सहूलियत होती है। दूरस्थ माध्यम से सम्बंधित कोर्स में छात्र अपने समय के हिसाब से पढाई करते हैं और अपना असाइनमेंट पूरा करते हैं। 

इसके अलावा उन कोर्सों को पूरा करने के लिए समयावधि अधिक होती है. मसलन, यदि डिस्टेंस एजुकेशन में कोई सर्टिफिकेट कोर्स एक वर्ष का है, तो उसे तीन वर्ष में पूरा किया जा सकता है। इसी तरह ग्रेजुएशन की डिग्री तीन से पांच वर्ष की अवधि में पूरी की जा सकती है।

इसे भी पढ़ें: IGNOU se B.A. Kaise Kare?

Leave a Comment

error: Content is protected !!