Gram Sachiv Kaise Bane? ग्राम सचिव बनने के लिए योग्यता: ग्राम सचिव के कार्य

भारत के अधिकांश लोग गाँवों में रहते हैं। और गाँव के विकास के लिए सरकार के तरफ से भी कई तरह के कदम उठाए जाते हैं। इसी कड़ी में ग्राम सचिव का भी नियुक्ति किया जाता है। और आज हम इसी के बारे में बात करेंगे कि ग्राम सचिव क्या होता है? Gram Sachiv Kaise Bane? ग्राम सचिव बनने की योग्यता और कार्य क्या-क्या होते हैं?

ग्राम सचिव गाँव के विकास के लिए उत्तरदायी होते हैं। ग्राम सचिव को ग्राम सेवक, ग्राम पंचायत सेवक तथा ग्राम पंचायत सचिव के नाम से भी जाना जाता है। वे सरकारी योजनाओं को गाँवों तक पहुँचाते हैं। उसके साथ ही योजनाओं के लिए सरकार द्वारा अनुदानित राशि को लाभुकों के खाते में भेजने से सम्बंधित जानकारी रखते हैं।

Gram Sachiv Kya Hota Hai?

ग्राम सचिव गाँव का सचिव या ग्राम सेवक होता है। वे गाँव के विकास के लिए कार्य करते हैं। इनकी नियुक्ति सरकार करती है। ग्राम सचिव, ग्राम पंचायत तथा सरकार के बीच कड़ी का काम करते हैं और गाँव के लोगों की समस्याओं को सुलझाते हैं। उसके साथ ही वे सरकारी योजनाओं को गाँवों तक पहुंचाते हैं।

Gram Sachiv Kaise Bane?

सभी पंचायत में ग्राम सचिव की नियुक्ति ग्रामीण विकास विभाग सरकारी नियम के अनुसार करती हैं। ग्रामीण विकास विभाग ग्राम सचिव की रिक्त स्थानों को भरने के लिए  विज्ञापन (Advertisement)/ Notification जारी करती हैं।

  • जब ग्रामीण विकास विभाग job Notification जारी करती हैं, तब आप आवेदन करें।
  • आवेदन (Application) करने के बाद परीक्षा (Examination) होती है, उस परीक्षा को पास करना होगा।
  • परीक्षा को पास करने के बाद चयन (Selection) होता है।

ग्राम सचिव बनने के लिए आपके पास कुछ योग्यताएं होनी चाहिए, तभी आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

Gram Sachiv Banne ke Liye Yogyta

ग्राम सचिव बनने के लिए आपके पास कुछ विशेष योग्यताएं होनी चाहिए, तभी आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। योग्यताएं इस प्रकार है-

  • आप इंटरमीडिएट (10+2) पास हो।
  • उसके साथ ही आप किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यलाय (University) से स्नातक (Graduation) पास हो।
  • स्नातक उत्तीर्ण होना आनिवार्य है, स्नातक उत्तीर्ण उम्मीदवार ही ग्राम सचिव के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • ग्राम सचिव बनने के लिए आपकी उम्र कम से कम/ न्यूनतम 18 वर्ष हो तथा अधिकतम 35 वर्ष होना चाहिए।
  • ये सभी योग्यताएं होनी चाहिए ग्राम सचिव बनने के लिए।

Gram Sachiv Exam Pattern in Hindi

ग्राम सचिव की परीक्षा दो पेपर में होती है। पहला पेपर में 100 प्रश्न पूछे जाते हैं, इसके लिए कुल 100 अंक निर्धारित होता है। इसके लिए समय 2 घंटा दिया जाता है। दूसरा पेपर भी कुल 100 अंक का होता है। इसमें भी 100 प्रश्न होते हैं तथा 2 घंटे का समय दिया जाता है। परीक्षा में अलग-अलग विषयों के प्रश्न होते हैं, उन्हें हल करना होता है, जैसे:

  • सामान्य जागरूकता (General Intelligence)
  • हिंदी (Hindi)
  • अंग्रेजी(English)
  • गणित (Mathematics
  • तार्किक क्षमता (Reasoning)

इन सभी विषयों से प्रश्न पूछे जाते हैं। अगर आप इन सभी विषयों में ध्यान देंगे, तो आप आसानी से ग्राम सचिव परीक्षा को क्लियर (Pass) कर सकते हैं।

Gram Sachiv ka Kaam Kya Hota Hai?

  • ग्राम सचिव गाँव का विकास करने के लिए उत्तरदायी है।
  • वह गाँव में होने वाले लिपिकीय कार्यों तथा धन का हिसाब रखती है।
  • सरकारी योजनाओं का प्रसार-प्रचार करती है तथा ग्रामीणों तक पहुंचाती है।
  • यह सरकार तथा गाँव के बीच कड़ी होती है. यह दोनों के बीच कड़ी का काम करती है।
  • पंचायत द्वारा पारित प्रस्तावों का रिकॉर्ड रखती है और उसका क्रियान्वयन करती है।
  • इस कारण ग्राम सचिव को ग्राम पंचायत सेवक भी कहा जाता है।

Gram Sachiv ka Salary Kitna Hota Hai?

ग्राम सचिव का वेतन (Salary) अच्छा खासा होता है, ऐसा कि वह अपना घर-परिवार अच्छे से चला सके। उनका प्रति माह वेतन 35000 से 40000 के बीच होता है।

6 thoughts on “Gram Sachiv Kaise Bane? ग्राम सचिव बनने के लिए योग्यता: ग्राम सचिव के कार्य”

Leave a Comment

error: Content is protected !!