IAS Kya Hota Hai? आईएएस के लिए योग्यता: आईएएस कैसे बने?

आईएएस का मतलब भारतीय प्रशासनिक सेवा होता है. यह अखिल भारतीय सेवाओं में से एक है, आईएएस अधिकारी अखिल भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी होते हैं. भारतीय प्रशासनिक सेवा यानि आईएएस में भर्ती संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से की जाती है. तो आज हम आपसे इसी के बारे में बात करेंगे कि IAS ke Liye Yogyata क्या होना चाहिए? आईएएस कैसे बनते हैं?

भारत का प्रशासनिक कार्य आईएएस अधिकारी के नियंत्रण में होता है. भारतीय प्रशासनिक सेवा में कई पद होता है, कलेक्टर, उप मजिस्ट्रेट, मजिस्ट्रेट, डीसी, एसडीएम आदि. जिला मजिस्ट्रेट और कलेक्टर के रूप में जिले में प्रशासनिक आदेश एवं प्रशासनिक कार्यों के संचालन के लिए आईएएस अधिकारी की नियुक्ति होती है. प्रशासनिक सेवा अधिकारी संसद में बनने वाले कानून को अपने क्षेत्र में लागू करवाते है और जनसाधारण तक पहुंचाते हैं.

IAS ka Full Form 

आईएएस का फुल फॉर्म Indian Administrative Service होता है. इसे हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा कहते हैं.

IAS Kya Hota Hai?

आईएएस  यानि इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस अखिल भारतीय सेवा है. आईएएस अधिकारी अखिल भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी होते हैं. भारतीय प्रशासनिक सेवा/ आईएएस अधिकारी का पद देश के प्रतिष्ठित पदों में से एक है. संघ लोक सेवा आयोग (Union Public Service Commission) द्वारा आयोजित सिविल सर्विस एग्जाम के माध्यम से आईएएस  अधिकारियों का नियुक्ति होता है. यूपीएससी द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा देश की सबसे कठिन परीक्षा माना जाता है.

संघ लोक सेवा आयोग आईएएस एग्जाम का आयोजन प्रतिवर्ष करता है. लाखों छात्र-छात्राएं आईएएस सिविल सेवा परीक्षा में शामिल होते हैं, लेकिन कुछ गिने-चुने अभ्यर्थी ही परीक्षा में सफल होते हैं. सफल अभ्यर्थी का चयन आईएएस के लिए होता है. रैंक के आधार पर आईएएस में पद मिलता है. जैसे, एसडीएम , डीसी, मजिस्ट्रेट, कलेक्टर आदि.

 IAS ke Liye Qualification

  • उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी सब्जेक्ट में स्नातक (Graduation) उत्तीर्ण होना चाहिए.
  • आईएएस एग्जाम में शामिल होने के लिए ग्रेजुएशन अनिवार्य होता है.
  • जो अभ्यर्थी ग्रेजुएशन के अंतिम सेमेस्टर में है, या परीक्षा दिए हैं और परिणाम आने का इंतजार कर रहे हैं. वैसे उम्मीदवार भी आईएएस के लिए आवेदन कर सकते हैं.
  • लेकिन मुख्य परीक्षा में शामिल होने से पहले ग्रेजुएशन डिग्री का प्रमाण-पत्र देना होगा.

IAS ke Liye Yogyata

  • आवेदक भारत देश का नागरिक होना चाहिए.
  • उम्मीदवार के पास किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन का डिग्री होना चाहिए.
  • अभ्यर्थी का न्यूनतम उम्र 21 वर्ष तथा अधिकतम उम्र 32 वर्ष होना चाहिए.
  • आरक्षित श्रेणी (एससी/ एसटी/ ओबीसी/ पीडब्लूडी) के उम्मीदवारों को अधिकतम उम्र-सीमा में छुट दिया जाता है.
  • प्रशासनिक सेवा अधिकारी के लिए किसी भी प्रकार का शारीरिक योग्यता निर्धारित नहीं है.

आईएएस कैसे बने?

  • आईएएस बनने के लिए सबसे पहले आपको किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन डिग्री प्राप्त करना होगा.
  • उसके बाद सिविल सेवा परीक्षा के लिए आवेदन करना होगा.
  • यूपीएससी प्रति वर्ष सिविल सेवा परीक्षा का आयोजन करता है.
  • जब यूपीएससी आईएएस Civil Service Exam के लिए notification जारी करता है, तब ऑनलाइन अप्लाई करना होगा.
  • सिविल सेवा परीक्षा का आयोजन यूपीएससी तीन चरणों में करता है.
  • प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू .
  • सबसे पहले प्रारंभिक लिखित परीक्षा होता है, उसके बाद मुख्य परीक्षा होता है.
  • prelims और मैन्स लिखित परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थ्यों को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है.
  • साक्षात्कार में सफल होने वाले अभ्यर्थियों चयन आईएएस अधिकारी के लिए होता है.
  • चयनित भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी (आईएएस ) को तीन वर्ष का प्रशिक्षण दिया जाता है.
  • प्रशिक्षण उत्तराखंड स्थित लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी, मसूरी (LBSNAA) में होता है.
  • ट्रेनिंग पूरा होने के बाद किसी राज्य के अनुमंडल अधिकारी (SDM) पद पर नियुक्ति होता है.
  • हर तीन-पांच वर्ष के अंतराल में Promotion होता है.
  • पदोंउन्नति के द्वारा डीसी, मजिस्ट्रेट का पद भी मिलता है.

इसे भी पढ़ें: MBBS ke Liye Qualification

आईएएस का सैलरी कितना होता है?

आईएएस ऑफिसर की सैलरी 56100 रूपये प्रतिमाह होता है. वेतन के अलावे, महंगाई भत्ता, यात्रा के लिए सरकारी वाहन, रहने के लिए सरकारी आवास आदि अन्य सुविधाएँ दिया जाता है. कुल मिलाकर एक आईएएस अधिकारी का वेतन अच्छा-खासा होता है.

IAS Exam ka Pattern 

आईएएस का परीक्षा तीन चरणों में होता है. सभी परीक्षाओं में सफल होने वाले उम्मीदवारों की नियुक्ति इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस में है. तीनों चरणों की परीक्षाओं का पैटर्न अलग-अलग होता है.

  • प्रारंभिक परीक्षा (Prelims Exam)
  • मुख्य परीक्षा (Mains Exam)
  • साक्षात्कार (Interview)

IAS Prelims Exam ka Pattern 

प्रारंभिक परीक्षा सिविल सर्विस की पहली परीक्षा होती है. सबसे पहले Preliminary Exam उत्तीर्ण करना होता है. prelims एग्जाम में दो पेपर होते है. दोनों पेपर कुल 200-200 अंकों की होती है. दोनों प्रश्न-पत्रों में वैकल्पिक प्रश्न होता है और प्रश्नों को हल करने के लिए 2 घंटे का समय दिया जाता है.

  • पेपर-I: सामान्य योग्यता परीक्षा (General Ability Test):  इस प्रश्न-पत्र में सामान्य ज्ञान, करेंट अफेयर्स, सामान्य विज्ञान, पर्यावरण, भारत का इतिहास, भारतीय राजनितिक और शासन प्रणाली, और भूगोल विषयों से वैकल्पिक प्रश्न पूछे जाते हैं.
  • पेपर- II: सिविल सर्विस एप्टीटूट टेस्ट (Civil Service Aptitude Test): दुसरे प्रश्न पत्र में भी वैकल्पिक प्रश्न होते हैं. इसमें सामान्य मानसिक योग्यता, समझ और तार्किक प्रश्न पूछे जाते हैं.

IAS Mains Exam ka pattern 

प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम घोषित होने के बाद मुख्य परीक्षा होती है. जो अभ्यर्थी prelims Exam उत्तीर्ण करते हैं, उन्हें मुख्य परीक्षा में प्रवेश मिलता है. यह IAS Exam की दूसरी चरण की परीक्षा है. मुख्य परीक्षा में वर्णात्मक/ व्याख्यात्मक प्रश्न पूछे जाते हैं, जिसका उत्तर यथासंभव अपने शब्दों में लिखना होता है.

इसमें कुल 9 पेपर होता है, कुल 1750 अंकों का परीक्षा होता है. सभी पेपर में वर्णात्मक प्रश्न होता है. प्रत्येक पेपर को हल करने के लिए 3 घंटे का समय निर्धारित  है. एक पेपर में 25 से 30 प्रश्न होते है, कुल मिलाकर लगभग 200 प्रश्न होते हैं.

Mains Exam Paper:

  1. पेपर-I: भारतीय भाषा (Indian Language)
  2. पेपर-II: अंग्रेजी भाषा (English Language)
  3. Paper-III: निबंध (Essay)
  4. सामान्य अध्ययन पेपर-1 (General Studies)
  5. सामान्य अध्ययन पेपर-2 (General Studies)
  6. General Studies Paper-3
  7. General Studies Paper-4
  8. वैकल्पिक विषय पेपर- 1
  9. वैकल्पिक विषय पेपर-2

आईएएस का इंटरव्यू कैसे होता है? 

इंटरव्यू आईएएस एग्जाम का अंतिम चरण का परीक्षा है. प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा पास करने करने वाले अभ्यर्थियों का इंटरव्यू होता है. इसमें अधिकारी कुछ प्रश्न  पूछते है, उसका उत्तर अच्छे से से देना होता है. इंटरव्यू के द्वारा उम्मीदवार के व्यक्तित्त्व और बुद्धि का परीक्षण होता है.

आईएएस की तैयारी कैसे करे? 

  • परीक्षा पैटर्न और सिलेबस की जानकारी प्राप्त करें.
  • सिलेबस के आधार पर अध्ययन करें.
  • यह परीक्षा बहुत कठिन होती है, इसलिए मेहनत और लग्न से तैयारी करें.
  • पिछले वर्ष के प्रश्न-पत्रों का अध्ययन करें.
  • सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के लिए Practice Book ख़रीदे.
  • स्टडी करने के लिए समय-सारणी बनाये.
  • सेल्फ स्टडी पर ध्यान दें.
  • पढने के साथ ही लिखने का भी अभ्यास करें.
  • करंट अफेयर्स का अध्ययन करे. इसके लिए प्रतिदिन अखबार पढ़ें.
  • आईएएस एग्जाम की तैयारी के लिए इंस्टिट्यूट ज्वाइन कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें: Navy Kya Hai? Navy ke Liye Yogyata 

Leave a Comment

error: Content is protected !!