CIBIL Score Meaning in Hindi: क्रेडिट स्कोर / सिबिल स्कोर क्या होता है?

किसी बैंक के पास लोन लेने के लिए यदि आप कभी गए हैं, तो सबसे पहले आपसे आपका CIBIL Score ज़रूर पूछा गया होगा। इतना ही नहीं, अगर आप online credit card application भरना चाहते हैं, तो हर वेबसाइट पर आपको सिबिल स्कोर देना पड़ता है। आज हम इसी के बारे में बात करेंगे कि आखिर यह CIBIL Score Kya Hota Hai?

सिबिल का सीधा मतलब क्रेडिट से है, यानी उधारी लेने पर पैसे वापस करने की क्षमता आपमें कितनी फ़ीसदी है। जितना अधिक आपका CIBIL Score रहेगा, उतना जल्दी और बड़ी रक़म ऋण के तौर पर आप ले सकते हैं। तो Full Form of CIBIL Score Meaning in Hindi के बारे में आइए विस्तार से जानते हैं।

CIBIL Score Kya Hota Hai?

क्रेडिट क्षमता बताने वाला CIBIL Score वो अंक होता है, जो किसी भी व्यक्ति की credit history का विवरण देता है। किसी ग्राहक ने अपने क़र्ज़ का भुगतान समय पर किया है या नहीं, विभिन्न प्रकार के बिलों का पेमेंट करने में उसका रवैया कैसा रहा है और सही समय पर bill payment किया है कि नहीं, इन्हीं बातों के आधार पर उस व्यक्ति का Credit Score तैयार होता है।

आपका CIBIL Score जितना अधिक होगा, ऋण या क्रेडिट लेने में आपको उतनी ही आसानी होगी। वैसे क्रेडिट स्कोर का रेंज 300 से 900 के बीच होता है। अधिकतम बैंकों की मानें तो 700-749 तक का स्कोर अच्छा, 650-699 तक ठीक-ठाक, 550-649 तक ख़राब और 550 या इससे भी कम स्कोर को बहुत ही ख़राब माना जाता है।

CIBIL Full Form in Hindi

Credit Information Bureau (India) Limited यानी CIBIL एक Credit Bureau कम्पनी है, जो ग्राहकों का credit information का records रखती हैं। किसी व्यक्ति के कितने क्रेडिट कार्ड्स हैं, अगर लोन लिया गया तो वापस कितने समय में किया है, इन सभी financial activities की जानकारी सभी बैंक CIBIL को समय-समय पर रिपोर्ट करती रहती हैं।

आपके बैंक/क्रेडिट कार्ड कम्पनी द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर ही आपका CIBIL Score या फिर क्रेडिट स्कोर तैयार होता है। यदि पिछले 12-18 महीने में आपका अच्छा credit record है, तो आपका सिबिल स्कोर अपने-आप अच्छा होते जाएगा। इससे आपको लोन लेने में काफ़ी आसानी होगी।

यदि आप किसी तरह का personal loan या home loan लेने का मन बना रहे हैं, तो पहले अपना credit score देखना न भूलें। किसी भी व्यक्ति को लोन देने से पहले बैंक उसके क्रेडिट स्कोर की जाँच करती हैं। इस स्कोर के अच्छा होने पर बैंक तुरंत ही लोन की स्वीकृति दे देती हैं, वहीं क्रेडिट स्कोर ख़राब होने पर लोन की मंज़ूरी जल्दी नहीं मिलती है। इसलिए लोन लेने से पहले अपने credit score को मज़बूत बना लें।

इसे भी पढ़ें: Freelancing se Paise Kaise Kamaye?

CIBIL Score Kaise Badhaye?

क्रेडिट स्कोर को अच्छा बनाए रखने के लिए बेहतर होगा कि आप हर महीने अपने CIBIL Score की जाँच करें। अगर आपका सिबिल स्कोर ख़राब है, तो उसे ठीक करने के तरीक़े कई हैं। पिछले 24 महीनों का आपका financial activity काफ़ी मायने रखता है कि वर्तमान में आपका क्रेडिट स्कोर कितना रहेगा।

  • CIBIL Score improve करने का सबसे आसान तरीक़ा है EMI का सही समय पर भुगतान करना। यदि आपने बिजनेस लोन या किसी अन्य प्रकार का लोन लिया है, आप अपनी EMI का भुगतान निर्धारित तिथि पर कर दें।
  • अगर आप credit card का काफ़ी ज़्यादा इस्तेमाल करते हैं, तो थोड़ा कम यूज़ करें और जहाँ जरुरी हो वहीं करें। और जब क्रेडिट कार्ड का उपयोग करें, तो उसके बिलों का ठीक समय पर भुगतान कर दें।
  • पैसे सभी को पसंद होते हैं, और अक्सर में एक-साथ कई सारे loans ले लेते हैं। एक ही समय पर एक से अधिक लोन लेने पर क्रेडिट स्कोर ख़राब होने का ख़तरा बना रहता है।
  • दरअसल, एक ही समय पर एक से अधिक लोन होने से EMI अधिक हो जाती है। यदि EMI समय पर जमा नहीं होती, तो इसका सीधा असर क्रेडिट स्कोर पर पड़ता है।
  • Credit Card का सदुपयोग करके आप अपना सिबिल स्कोर काफ़ी कम समय में बेहतर कर सकते हैं, बस आपको समय-समय पर बिल का भुगतान करते रहना है।

Credit/CIBIL Score Check Kaise Kare?

वैसे हमने CIBIL Score Kya Hota Hai? से लेकर यह कैसे काम करता है, सभी चीजों के बारे में तो बात कर लिया लेकिन Credit Score Check Karne ka Tarika Kya Hai? यह तो हमने बात ही नहीं किया है। तो आज के समय में इंटरनेट पर ऐसी कई वेबसाइट हैं, जहाँ से आप अपना सिबिल स्कोर चेक कर सकते हैं।

BankBazaar.com Cibil.com PaisaBazaar.com ये कुछ लोकप्रिय साइट्स हैं, जहाँ पर आपको Get Your CIBIL Score का ऑप्शन मिल जाता है। इस ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपको अपने details डालने होंगे, उसके बाद कुछ ही समय में आपके सामने आपका Credit Score आ जाएगा।

Leave a Comment

error: Content is protected !!