गृह विज्ञान क्या होता है? Home Science Meaning in Hindi

हम सभी का घर है, जिसका तत्सम शब्द ‘गृह’ है। अब जब भी हम ‘गृह विज्ञान’ सुनते हैं, तो सोचते हैं कि विज्ञान और घर के बीच क्या संबंध है? तो आज हम Home Science Meaning in Hindi के बारे में ही विस्तार से जानेंगे कि गृह विज्ञान क्या होता है?

हमारे घर में हमारे परिवार के सभी सदस्य, माता-पिता, भई-बहन और दादा-दादी रहते हैं। एक गृहस्थी में नारी, स्त्री या पत्नी घर के विभिन्न क्रियाकलापों को करते हुए गृहिणी की मुख्य भूमिका निभाती है। परंतु एक गृहिणी की अवधारण धीरे-धीरे बदल चुकी है। आज, स्त्री व पुरुष संयुक्त रूप से घर व परिवार के दायित्वों का निर्वाह करते हुए प्रसन्नता का अनुभव कर रहे हैं।

महिलाएँ कामकाजी बन रही है अतः पुरुषों ने परिवार की भलाई के लिए दायित्वों के निर्वहन में भागीदारी लेनी शुरू कर दी है। इसी कारण महिलाओं व पुरुषों दोनों को ही परिवार की भलाई का ज्ञान होना चाहिए व परिवार के रहन सहन का स्तर बढ़ाने के लिए प्रयासरत रहना चाहिए। इसी संदर्भ में गृह विज्ञान विषय लड़के व लड़कियों को जानकारी देता है।

Home Science Meaning in Hindi

गृह विज्ञान, मतलब Home Science दो शब्दों ‘गृह’ एवं ‘विज्ञान’ से बना है। गृह का तात्पर्य उस स्थान से है जहाँ परिवार रहता है। विज्ञान शब्द का अर्थ उस ज्ञान से है जो वास्तविकता, सिद्धांतों व नियमों पर आधारित है।

इन दोनों शब्दों को जोड़कर गृह विज्ञान का अर्थ इस प्रकार दिया जा सकता है कि गृह विज्ञान का अर्थ घर व पारिवारिक जीवन को बेहतर बनाने के लिए वैज्ञानिक ज्ञान को सुव्यवस्थित तरीक़े से लागू करना है।

गृह विज्ञान क्या होता है?

गृह विज्ञान का अर्थ घर व पारिवारिक जीवन को बेहतर बनाने के लिए वैज्ञानिक ज्ञान को सुव्यवस्थित तरीक़े से लागू करना है।

  • चूँकि गृह विज्ञान दैनिक जीवन के विभिन्न पहलुओं जैसे भोजन, आवास, कपड़ा, स्वास्थ्य, संसाधन व विभिन्न सेवाओं आदि से संबंधित है, अतः इस विषय में सभी संबंधित कला व विज्ञान विषयों के सिद्धांत शामिल होते हैं।
  • इन सिद्धांतों को स्वस्थ व प्रसन्न जीवन को बढ़ावा देने के लिए लागू किया जाता है। अतः गृह विज्ञान दैनिक जीवन की कला व विज्ञान है।
  • गृह विज्ञान में आप पोषक तत्त्वों, भोजन समूहों व संतुलित आहार आदि के विषय में पढ़ते हैं जिनसे आपके वैज्ञानिक ज्ञान में अभिवृद्धि होगी।
  • जब आप पोषक तत्त्वों से युक्त भोजन बनाने के लिए इस ज्ञान का उपयोग करते हैं तब यह विज्ञान है परंतु जब तैयार भोजन को आप कलात्मक तरीक़े से परोसते हैं तब यह एक कला है।
  • इसी प्रकार आप वस्त्र, रेशों व उनके गुणों व देखभाल के विषय में जब पढ़ते हैं तब यह विज्ञान है परंतु जब आप किसी वस्त्र का नमूना तैयार करके उसको सिल कर उसकी सुंदरता बढ़ाने के लिए कढ़ाई करते हैं, तब यह कला है।
  • कला व विज्ञान के इस सम्मिश्रण को आप दैनिक जीवन के कई क्षेत्रों में उपयोग करते हैं।

गृह विज्ञान क्यों पढ़ना चाहिए?

गृह विज्ञान की शिक्षा आपसे संबंधित है। यह ज्ञान आपके घर, परिवार व संसाधनों कि उचित उपयोग के लिए आवश्यक है। अतः इस विषय का उद्देश्य आपको व आपके परिवार के लिए अधिक से अधिक संतोष देना है। यह विषय दैनिक जीवन के लिए वैज्ञानिक ज्ञान व कौशल देता है। इसके अतिरिक्त, गृह विज्ञान आपको रोजगार के कई अवसर भी प्रदान करता है।

Importance of Home Science in Hindi

गृह विज्ञान का ज्ञान आपको नयी चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार करता है। अत्यधिक ज्ञान का सामना करने, तकनीकी उन्नति व समाज में सफलतापूर्वक जीवन निर्वाह करने और व्यक्तियों को बढ़ती हुई ज़रूरतों को पूरा करने में यह ज्ञान सहायक सिद्ध होता है।

गृह विज्ञान एक ऐसा विषय है जो आपको साहस के साथ, बदलते वक्त की चुनौतियों का सामना करने के लिए प्रशिक्षित करता है। व्यक्तिगत महत्त्व: यह विषय आपको वैज्ञानिक ज्ञान व घर-गृहस्थी के दायित्वों के दक्षतापूर्ण निर्वहन के लिए कौशल देता है। साथ ही यह आपको स्वरोज़गार व वैतनिक सेवाओं के लिए भी तैयार करता है।

घर और पारिवारिक जीवन के लिए महत्व: गृह विज्ञान उपलब्ध संसाधनों के भरपूर उपयोग से घर व पारिवारिक जीवन को दृढ़ बनाने पर बाल देता है। इस विषय से विभिन्न विज्ञान विषयों को एकीकृत करके उनके ज्ञान द्वारा घर व पारिवारिक वातावरण, स्वास्थ्य और व्यक्तियों के विकास और घरेलू संसाधनों में सुधार व बढ़ोत्तरी की जाती है।

केवल यही एक विषय है जो भोजन, कपड़े, आवास, स्वास्थ्य, मानवीय संबंध, परिवार के साधनों और व्यक्ति से संबंधित है। परिवार समुदाय की सबसे छोटी सामाजिक इकाई है अतः परिवार की समृद्धि में गृह विज्ञान का योगदान, समुदाय व रास्टर विकास में भी सहायता करता है।

आर्थिक स्थायित्व का महत्त्व: गृह विज्ञान के विभिन्न पहलू व्यक्ति को कई प्रकार के व्यवसायों के लिए तैयार करते हैं। अतः किसी भी नौकरी अथवा स्वरोज़गार से परिवार का आर्थिक स्थायित्व सुनिश्चित होता है जिससे आगे परिवार के रहन-सहन में व परिवार की जीवन-शैली में भी बढ़ोत्तरी होती है।

इसे भी पढ़ें: राजनीति विज्ञान क्या होता है?

Leave a Comment

error: Content is protected !!