केदारनाथ सिंह का जीवन परिचय, काव्य विशेषता एवं भाषा-शैली

Kedarnath Singh Biography in Hindi

हिन्दी काव्यों की करें तो कई महान कवि हुए हैं, लेकिन केदारनाथ सिंह की काव्यों की बात ही अलग है। इनकी कविताओं में आपको मानवीय संवेदनाएँ भर-भर के मिलेंगी। इनके काव्य-संग्रह ‘अकाल में सारस‘ पर उन्हें साहित्य अकादमी पुरस्कार प्रदान किया गया तथा सन् 1994 ई. में ‘मैथिलीशरण गुप्त’ राष्ट्रीय सम्मान दिया गया। आइए जानते …

Read more

कहानीकार के रूप में जयशंकर प्रसाद का परिचय एवं प्रमुख कहानियाँ

कहानीकार के रूप में जयशंकर प्रसाद का परिचय

जयशंकर प्रसाद हिंदी के काफ़ी प्रसिद्ध कवि, कहानीकार, उपन्यासकार और निबंध-लेखक थे, जिन्होंने कामायनी, आंसू, लहर, झरना, एक घूंट, विशाख, अजातशत्रु, आकाशदीप, आंधी, ध्रुव स्वामिनी और तितली जैसे कई रचनाएँ दी हैं। आइए जानते हैं एक कहानीकार के रूप में जयशंकर प्रसाद का परिचय एवं उनकी प्रमुख कहानियाँ। कहानीकार के रूप में जयशंकर प्रसाद जयशंकर …

Read more

जैनेन्द्र कुमार का साहित्यिक परिचय, कहानी, उपन्यास, कृतियाँ एवं जीवन परिचय

जैनेंद्र कुमार का साहित्यिक परिचय

जैनेन्द्र कुमार का हिंदी साहित्य में काफी विशेष स्थान है फिर भी ऐसा लगता है कि समय के साथ उनके योगदान के महत्व को लोगों ने कुछ भुला-सा दिया है। वे हिंदी साहित्य के एक प्रसिद्ध मनोवैज्ञानिक कथाकार उपन्यासकार, तथा निबंधकार हैं। आइए जानते हैं जैनेंद्र कुमार का जीवन परिचय, कृतियाँ, कहानी, उपन्यास और साहित्यिक …

Read more

सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन ‘अज्ञेय’ का जीवन परिचय, रचनाएँ, कविताएँ एवं साहित्यिक परिचय

सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन 'अज्ञेय' का जीवन परिचय

सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन ‘अज्ञेय’ प्रयोगवाद एवं नई कविता के एक सशक्त और लोकप्रिय कवि थे। इनकी कविताओं में आपको अनेक आत्मानुभूतियों की झलक मिल जाएगी, जो अन्य कवियों से काफ़ी अलग है। आइए जानते हैं सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन ‘अज्ञेय’ का जीवन परिचय, रचनाएँ एवं साहित्यिक योगदान। सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन ‘अज्ञेय’ का जीवन परिचय सच्चिदानंद हीरानंद …

Read more

विद्यापति का साहित्यिक परिचय, काव्य सौंदर्य, श्रृंगार वर्णन एवं जीवनी

विद्यापति का साहित्यिक परिचय

हिंदी साहित्य में गद्य और पद्य दोनों विधाओं का काफ़ी महत्त्व है। कहानी, उपन्यास के अलावा कविताएँ भी समाज के कई समस्याओं और लेखक और कवि के अनुभवों को अभिव्यक्त करते हैं। विद्यापति भी काफ़ी प्रसिद्ध कवि थे, और आज हम विद्यापति का साहित्यिक परिचय, काव्य सौंदर्य, श्रृंगार वर्णन एवं जीवनी के बारे में बात …

Read more

निर्मल वर्मा का जीवन परिचय, साहित्यिक योगदान, और प्रमुख रचनाएँ

Nirmal Verma ka Jivan Parichay

निर्मल वर्मा सामाजिक बदलाव तथा राजनीतिक समस्याओं पर विशेष लेखनी के माध्यम से लोकप्रिय बने। आइए जानते हैं निर्मल वर्मा का साहित्यिक परिचय, भाषा-शैली, रचनाएँ और संक्षेप में उनकी जीवनी। निर्मल वर्मा का जीवन परिचय निर्मल वर्मा का जन्म सन् 1929 ई. में शिमला में हुआ। उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के सेंट स्टीफेंस कॉलेज में इतिहास …

Read more

फणीश्वरनाथ रेणु का साहित्यिक परिचय: व्यक्तित्व, कृतित्व, रचनाएँ और जीवनी

Phanishawar Nath Renu Jivani

एक विशिष्ट शैलीकार और विकासशील समाज के प्रतिनिधि के रूप में फणीश्वरनाथ रेणु जी को यथोचित श्रेय मिला है। हिन्दी साहित्य में उनका योगदान काफ़ी महत्वपूर्ण रहा है, और उनकी रचनाएँ भी अलग-अलग रूप में विस्तृत रहे हैं। आइए जानते हैं फणीश्वरनाथ रेणु का साहित्यिक परिचय, व्यक्तित्व, कृतित्व, रचनाएँ और संक्षेप में फणीश्वरनाथ रेणु की …

Read more

सूर्यकांत त्रिपाठी निराला का जीवन परिचय, भाषा-शैली, रचनाएँ एवं साहित्यिक परिचय

सूर्यकांत त्रिपाठी निराला का जीवन परिचय

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’ जी का साहित्य-संसार बहुत विस्तृत है। उन्होंने गद्य और पद्य दोनों ही विधाओं में अद्भुत रचनाएँ की हैं। और आज हम सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’ का साहित्यिक परिचय के माध्यम से उनके जीवनी, रचनाएँ और भाषा-शैली के बारे में जानेंगे। सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’ का जीवन परिचय सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’ का जन्म 1899 ई. …

Read more

हज़ारी प्रसाद द्विवेदी का साहित्यिक परिचय: प्रमुख रचनाएँ, निबंध कला और आलोचना दृष्टि

Hazari Prasad Dwivedi Sahityik Parichay

डॉ. हज़ारी प्रसाद द्विवेदी आधुनिक हिंदी साहित्य के शलाका पुरुष हैं। उन्होंने हिंदी गद्य साहित्य की अनेक विधाओं का भंडार भरा है। द्विवेदी जी संस्कृत और हिंदी के प्रकांड पंडित थे। वे अंग्रेजी भाषा एवं साहित्य के भी अधीत जानकार थे। आज का यह लेख हज़ारी प्रसाद द्विवेदी का साहित्यिक परिचय है, जहाँ हम इनकी …

Read more

आचार्य रामचंद शुक्ल का साहित्यिक परिचय: इतिहास दृष्टि, रचनाएँ, निबंध शैली, आलोचना पद्धति और हिन्दी साहित्य में योगदान

Aacharya Ramchandra Shukla ka Sahityik parichay

आचार्य रामचंद्र शुक्ल हिन्दी साहित्य के महान इतिहासकार और आलोचक हैं। यदि शुक्ल जी ने ‘हिंदी साहित्य का इतिहास‘ नहीं लिखा होता तो सम्भवतः साहित्येतिहास लेखन की मार्गदर्शिनी परम्परा की नींव नहीं पड़ी होती। ‘हिंदी साहित्य का इतिहास’ से पूर्व हिंदी गद्य में लिखा हुआ हिंदी साहित्य का कोई इतिहास-ग्रंथ प्राप्त नहीं होता है। आचार्य …

Read more

error: Content is protected !!