अटल बिहारी वाजपेयी का राजनीतिक सफ़र और जीवनी: Atal Bihari Vajpayee Biography in Hindi

अटल बिहारी वाजपेयी की जीवनी

अगर आप भारत के राजनीति से थोड़ा-भी संबंध रखते हैं, तो अटल बिहारी वाजपेयी जी का नाम ज़रूर सुना होगा। वे तीन बार भारत के प्रधानमंत्री रह चुके हैं, और एक सफल राजनेता के साथ-साथ Atal Bihari Vajpayee जी एक कवि, पत्रकार और एक सफल वक्ता भी थे। वे भारतीय जनसंघ के संस्थापकों में से …

Read more

स्वामी दयानंद सरस्वती का जीवन परिचय, सामाजिक विचार, राजनीतिक, धार्मिक व शिक्षा संबंधी विचार

Swami Dayanand Saraswati ka Jivan Parichay

स्वामी दयानन्द सरस्वती भारत के एक प्रसिद्ध दार्शनिक, आर्य समाज के संस्थापक और भारतीय संस्कृति के वैदिक संरक्षक भी थे। वे एक साथ ही सन्त, समाज-सुधारक और देशभक्त थे। उन्होंने ही सबसे पहले वर्ष 1876 में ‘स्वराज‘ का नारा दिया जिसे बाद में लोकमान्य बालगंगाधर तिलक जी ने आगे बढ़ाया। भारत के द्वितीय राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली …

Read more

केशवदास का जीवन परिचय: केशवदास की कविताएँ एवं प्रमुख रचनाएँ

Keshavdas ka Jivan Parichay

हिन्दी साहित्य के काव्य जगत में अपनी एक अलग जगह बनाने वाले सुप्रसिद्ध कवि केशवदास भक्तिकाल के चर्चित कवियों में से एक हैं। वे संस्कृत काव्यशास्त्र का सम्यक् परिचय कराने वाले हिंदी के प्राचीन आचार्य और कवि हैं। और आज आप केशवदास का जीवन परिचय के माध्यम से केशवदास की प्रमुख रचनाएँ एवं कविताएँ जानने …

Read more

भीष्म साहनी का जीवन परिचय, प्रसिद्ध उपन्यास, कहानी संग्रह, प्रमुख रचनाएँ एवं साहित्यिक विशेषताएँ

भीष्म साहनी का जीवन परिचय

भीष्म साहनी हिन्दी साहित्य के एक प्रमुख उपन्यासकार, कहानीकार, नाटककार और लेखक थे, जिन्हें मुंशी प्रेमचंद की परंपरा का अग्रणी लेखक माना जाता है। साहित्य के अलावा, वे सामाजिक कार्यों में भी काफ़ी रुचि रखते थे, और आज हम भीष्म साहनी का जीवन परिचय, प्रसिद्ध उपन्यास, कहानी संग्रह एवं साहित्यिक विशेषताओं के बारे में जानेंगे …

Read more

लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक का जीवन परिचय, निबंध, जीवनी

Lokmanya Bal Gangadhae Tilak ki Jivani

“स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर ही रहूँगा।” लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक जी का यह नारा स्वतंत्रता आंदोलन को एक लोक आंदोलन में बदलने में काफ़ी बड़ी भूमिका निभाई है। और आज हम लोकमान्य बालगंगाधर तिलक का जीवन परिचय (जीवनी) के माध्यम से जानेंगे कि भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में इनका क्या महत्व …

Read more

Sachin Tendulkar Biography in Hindi सचिन तेंदुलकर का जीवन परिचय

Sachin Tendulkar Biography

सचिन तेंदुलकर को क्रिकेट का भगवान कहा जाता है. क्रिकेट के क्षेत्र में सचिन एक ऐसी जीती-जगाती मिसाल बन गए, जिसका कोई मुकाबला नहीं कर सकता. केवल भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी सचिन को चाहने वालों की कमी नहीं है. अंतर्राष्ट्रीय एक-दिवसीय क्रिकेट में कोई बल्लेबाज अब तक 200 रन नहीं बना …

Read more

रामविलास शर्मा का साहित्यिक परिचय: जन्म, कहानी, रचनाएँ, निबंध, भाषा-शैली, महत्व और योगदान

Ramvilas Sharma ka Jivan Parichay

 डॉ॰ रामविलास शर्मा हिन्दी साहित्य के एक सुप्रसिद्ध निबंधकार, आलोचक, कवि और भाषाशास्त्री थे। वैसे तो पेशे से वे अंग्रेजी के एक प्रोफेसर थे, लेकिन दिल से हिन्दी के एक प्रकांड पंडित और गहरे विचारक, ऋग्वेद और मार्क्स के अध्येता, इतिहासवेत्ता, भाषाविद, राजनीति-विशारद ये सब विशेषण उन पर समान रूप से लागू होते हैं। आइए …

Read more

हिमांशी सिंह कौन हैं? YouTuber Himanshi Singh Net Worth & Earnings (LET’S LEARN)

Himanshi Singh Net Worth

अगर आप CTET या किसी और शिक्षक पात्रता परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो आपने Himanshi Ma’am का नाम जरूर सुना होगा, जो Let’s LEARN नाम से YouTube Channel चलाती हैं। Himanshi Singh CTET, TETs, KVS, NVS आदि जैसे Exams की तैयारी करवाती हैं, और विद्यार्थियों के बीच उनकी एक अलग ही लोकप्रियता है। …

Read more

सूर्यकांत त्रिपाठी निराला का जीवन परिचय, भाषा-शैली, रचनाएँ एवं साहित्यिक परिचय

सूर्यकांत त्रिपाठी निराला का जीवन परिचय

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’ जी का साहित्य-संसार बहुत विस्तृत है। उन्होंने गद्य और पद्य दोनों ही विधाओं में अद्भुत रचनाएँ की हैं। और आज हम सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’ का साहित्यिक परिचय के माध्यम से उनके जीवनी, रचनाएँ और भाषा-शैली के बारे में जानेंगे। सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’ का जीवन परिचय सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’ का जन्म 1899 ई. …

Read more

Raja Mahendra Pratap Singh Biography in Hindi: राजा महेंद्र प्रताप सिंह कौन थे? राजा महेंद्र प्रताप सिंह जीवन परिचय

Raja Mahendra Pratap Singh Biography in Hindi

राजा महेन्द्र प्रताप सिंह भारत के स्वतंत्रता सेनानी, पत्रकार, लेखक, क्रांतिकारी, समाज सुधारक और महान दानवीर थे। वे ‘आर्यन पेशवा‘ के नाम से प्रसिद्ध थे और भारत की अनंतिम सरकार के अध्यक्ष थे। सरकार प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान बनी थी और भारत के बाहर से संचालित हुई थी। उन्होंने द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान जापान में …

Read more

error: Content is protected !!