BPO Kya Hai? KPO & BPO Full Form in Hindi

College students जब भी नौकरी लेने की सोचते हैं तो कई लोग उन्हें BPO के बारे में बताते हैं। पहले यह युवाओं के बीच part-time jobs का एक सेक्टर हुआ करता था, पर आज के समय में लोग इसे एक full-time career की तरह देखते हैं। आज हम इसी के बारे में बात करेंगे कि BPO Kya Hota Hai? इसमें काम क्या-क्या होता है, और आप BPO में नौकरी कैसे ले सकते हैं?

Table of Contents

BPO ka Full Form Kya Hai?

BPO का full form होता है Business Process Outsourcing जिसका मतलब है किसी दूसरी कंपनी के लिए अपनी सेवाएँ देना। इस सेक्टर में नौकरियां दी ही इसलिए जाती हैं कि आप दूसरी कंपनियों का काम कर सकें।

आज के समय में ऐसी कई कम्पनियाँ हैं जो हर department के लिए खुद के कम्पनी में लोगों को hire नहीं करना चाहते हैं, क्योंकि इससे cost काफ़ी बढ़ जाती है। तो ऐसे काम जो कभी-कभी जरुरत पड़ती है, या फिर उन्हें permanent तौर पर करने की जरुरत नहीं है, तो वे दूसरे कम्पनियों से वो काम करवाते हैं।

उदाहरण के लिए, अगर आप अपने business website में blog posts लिखवाना चाहते हैं, तो full-time content writer लाने की जरुरत नहीं है। किसी content writing firm से आप आर्टिकल लिखवा सकते हैं। इसी प्रकार BPO के अंतर्गत और भी कई तरह के काम हो सकते हैं, जो आप किसी दूसरी कम्पनी से outsource करना चाहते हैं। जैसे- Graphics Designing, Video Editing, Accounting, Call Centre Services, etc.

KPO vs BPO Meaning in Hindi

जहाँ पर BPO की बात हो रही हो, वहां KPO भी आ ही जाता है। KPO का full-form होता है Knowledge Process Outsourcing. यह BPO से काफी मिलता-जुलता है, लेकिन दोनों में बस थोड़ा-सा अंतर है।

आमतौर पर BPO  में जहाँ data entry, processing, technical support जैसे काम किए जाते हैं, वहीं KPO में ढेर सारे विकल्प हैं; जैसे research & development, business and market research, network management, medical services, etc. यानी ऐसे काम जहाँ पर ज्ञान की बात हो रही है, वो सारे काम KPO के अंतर्गत आते हैं।

इसे भी पढ़ें: Blogging Website se Paise Kaise Kamaye?

BPO me Job Kaise Paye?

  • अगर आप BPO सेक्टर में जॉब पाना चाहते हैं, तो आपको अपने hard skills के साथ ही soft skills जैसे communication, critical thinking और people skills पर काम करना है।
  • यदि आपको दो से अधिक भाषाएँ पढ़नी, बोलनी और लिखनी आती हैं, तो BPO में नौकरी मिलने के आसार काफ़ी बढ़ जाते हैं। आप दूसरे देशों में भी जॉब ले सकते हैं।
  • सोशल मीडिया और इंटरनेट पर job requirements देखने पर आपको apply कर देना है।
  • इसी के साथ अगर आप किसी खास कम्पनी में काम करना चाहते हैं, तो अपने specialisation को बताते हुए आप खुद भी contact कर सकते हैं।

BPO Salary in India

सैलरी की बात करें तो BPO में आप 10,000 से 15,000 रुपए से शुरुआत कर सकते हैं, उसके बाद जैसे-जैसे आपका अनुभव बढ़ेगा तो आपका वेतन 40,000 से 60,000 रुपए तक भी जा सकता है। आज के समय में BPO इंडस्ट्री काफ़ी ऊँचाई पर पहुँच गई है, तो अगर आप अच्छे-से काम करते हैं तो काफ़ी अच्छा-खास पैसे कमा सकते हैं।

Leave a Comment

error: Content is protected !!